एबी डीविलियर्स ने International Cricket के तीनों तीनों फॉर्मेट से लिया संन्यास

AB de villiers retirement

खेल समाचार 2018: दक्षिण अफ्रीका के महान खिलाड़ी एबी डीविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International Cricket) के तीनों फॉर्मेट से संन्यास (AB de villiers retirement) लेने का फैसला किया। इस फैसले ने हर किसी को हैरान कर दिया है। यह खबर दक्षिण अफ्रीका के एक सबसे प्रसिद्ध न्यूज वेबसाइट से मिली है।

एबी डीविलियर्स का संन्यास (AB de Villiers Retirement)

IPL 2018 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के एक मुख्य खिलाड़ी ने बुधवार को फैंस को यह बताया। एबी डीविलियर्स इस समय 34 वर्ष के है और इन्होनें क्रिकेट इतिहास में बहुत बड़े बड़े मुकाम हासिल कर लिये हैं। इनके फॉलोअर्सों की संख्यां भी बहुत अधिक हो चुकी है। इस मुश्किल फैसले को लेने से पहले उन्होंने काफी समय इसके बारे में विचार किया। इसके बाद इन्होनें ने ऐलान किया और कहा कि अब समय आ चुका है जब मुझे क्रिकेट को अलविदा कह देना चाहिए और इसके साथ साथ यह भी कहा कि मेरे टीम के सभी खिलाड़ियों और दुनियाभर के सभी मेरे समर्थन करने वाले फैंस को मेरा शुक्रिया। मेरे बहुत बहुत धन्यवाद।

बता दें कि एबी डीविलियर्स पिछले 14 साल से क्रिकेट खेल रहे हैं और अपने इस करीयर में उन्होंने ने काफी उतार चढ़ाव देखा है। ये लगभग क्रिकेट के सभी फोर्मेट में एक फिट खिलाड़ी है। इन्होनें ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 114 टेस्ट मैच 228 वनडे और 78 टी 20 मैच खेला है। 114 टेस्ट मैचों में इन्होने 8765 रन बनाये और 22 शतक और 46 अर्धशतक बनाया है। इन्होने बल्लेबाजी के साथ साथ एक शानदार विकेट कीपर का भी रोल निभाया है।

वहीं दूसरी ओर 228 वनडे मैचों में 53.5 के औसत से 9577 रन बनाया है तथा इंटरनैशनल टी20 78 मैच खेलकर 10 अर्धशतक और 1672 रन बनाया है। इन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज शतक लगाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर चुके हैं। सबसे तेज शतक लगाने का कारनामा इन्होंने 18 जनवरी 2015 को वेस्टइंडीज के खिलाफ लगाया था। इस मैच में केवल 31 गेंदों में ही इन्होंने शतक बना लिये थे। इस कीर्तिमान को रचने के लिए इन्होंने 16 छक्के और 9 चौके लगाये। इस मैच में इन्होंने 149 रन बनाये थे।

2019 वर्ल्ड कप से पहले ही संन्यास (AB de villiers retirement) लेने के इस निर्णय ने दक्षिण अफ्रीका के सभी क्रिकेट प्रशंसक और खिलाड़ियों को हैरान में डाल दिया तथा इसके साथ साथ दुनयाभर के सभी लोगों को भी। इनके इस निर्णय से दक्षिण अफ्रीका के वर्ल्ड कप मिशन को एक बड़ा झटका मिला।

Leave a Reply

error: Content is protected !!