ये महान कलाकार कभी बनना चाहते थे कार मैकेनिक

Birju Maharaj

देश में गिने-चुने कलाकार ऐसे हैं, जिन्होंने शास्त्रीय गीत-संगीत और नृत्य को नया आयाम दिया है। ऐसे ही महान कलाकारों में कथक सम्राट बिरजू महाराज का भी नाम शुमार किया जाता है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि बिरजू महाराज (Birju Maharaj) बचपन में डांसर नहीं बल्कि कार मैकेनिक बनना चाहते थे !

हाल ही में मुंबई के कला-आश्रम कथक प्रोग्राम में शामिल हुए बिरजू महाराज ने पत्रकारों से बातें करते हुए अपने बचपन की यादें शेयर की। पंडित बिरजू महाराज का कहना है कि उन्हें बचपन से ही गैजेट्स में काफी रुचि (Interest)रही है। जिस कारण वह बचपन से ही घर की रेडियो, टीवी ठीक करने में काफी दिलचस्पी लेते थे। बिरजू महाराज को कारों की तरफ भी खासा रुझान था। यही वजह थी कि Birju Maharaj बड़े होकर कार मकैनिक बनने की सोचा करते थे।

लेकिन वक्त के साथ Birju Maharaj नृत्य के क्षेत्र में आ गए और फिर उसके बाद क्या हुआ ये सभी जानते हैं। बता दें कि नृत्य के क्षेत्र में योगदान के लिए बिरजू महाराज को पदमविभूषण, संगीत नाटक अकादमी अवॉर्ड और राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

Birju Maharaj - Ek Mahan Kalakar

यह पूछे जाने पर कि 79 साल की उम्र में भी वह डांस के लिए कैसे प्रेरित होते हैं ? इस पर बिरजू महाराज ने कहा कि जिस तरह रंग सिर्फ 7 होते हैं, लेकिन उनके सही संतुलन से नए रंग जन्म लेते हैं। उसी तरह कथक में भी डांस के 9 हाव-भाव ही हैं, लेकिन इन हाव-भावों के संतुलन से हजारों नई शैलियां उत्पन्न होती है। ये नई शैलियां ही उन्हें डांस के प्रति उत्साहजनक बनाए रखती हैं।

 

बिरजू महाराज ने बॉलीवुड में कई फिल्मों में कोरियोग्राफी की है। सबसे पसंदीदा कलाकार के बारे में पूछे जाने पर बिरजू महाराज ने कहा कि माधुरी दीक्षित और कमल हासन काफी अच्छे नृतक हैं और Gracefully डांस करते हैं। Birju Maharaj युवाओं को डांस भी सिखाते हैं। उनका मानना है कि शास्त्रीय विधा को युवाओं को सौंपना जरुरी है, ताकि यह परंपरा हमेशा जीवित रहे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!