चक्रवाती तूफान तितली (Cyclone Titli) ने लिया विकराल रूप, ओडिशा के पांच तटीय जिलें इसके चपेट में

चक्रवाती तूफान तितली

चक्रवाती तूफान तितली ने लिया विकराल रूप, ओडिशा के पांच तटीय क्षेत्र खतरे में

चक्रवाती तूफान तितली के विकराल रूप की आशंका को देखते हुए विशेष राहत आयुक्त कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि बुधवार अपराह्न तक 50 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया जिनमें से ज्यादातर गंजम और पुरी जिलों से हैं.

विशेष राहत आयुक्त कार्यालय के एक अधिकारी ने उपरोक्त बताया कि पचास हज़ार व्यक्ति बुधवार दोपहर तक सुरक्षित स्थानों तक पहुंचा दिये गये है, जो कि गंजम और पुरी जिलों के अधिकांश वर्ग के लोग है।

बंगाल की खाड़ी पर चक्रवाती तूफान तितली ने बुधवार को एक बहुत ही भयंकर रूप लिया और यह ओडिशा और आंध्र प्रदेश तट की तरफ बढ़ता जा रहा है, जिसके कारण ओडिशा सरकार ने पांच तटीय जिलों से लगभग दो लाख लोगों को सुरक्षित करने में कामयाब रहें। कई अधिकारियों ने कहा कि वे लोगों को निचले और तटीय क्षेत्रों से सुरक्षित स्थानों पर भेजने के लिए काम कर रहे हैं।

मौसम विभाग ने कहा कि ओडिशा और आंध्र प्रदेश के समुद्र तटीय स्थानो पर 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की हवाएं चल रही है जो कि 165 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच सकती हैं, और इसके साथ बारिश भी बहुत तेज हो सकती है।




मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने स्थिति की समीक्षा की

मौसम विभाग के अनुसार, समुद्र में बढ़ती लहरों का पूर्वानुमान है; इस वजह से ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर जिलों के कलेक्टरों को तुरंत तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुचाने का आदेश दिया।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अधिकारियों से यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा कि चक्रवात तितली के कारण कोई भी व्यक्ति की मृत्यु न हो पाये और लोगों के लिए एक सुरक्षित जगह तैयार रखे ताकि उन्हें तुरंत वहां पहुंचाया जा सके।

राज्य में भारी बारिश की भविष्यवाणी को देखते हुए मुख्यमंत्री ने गुरुवार और शुक्रवार को सभी स्कूलों और कॉलेजों और आंगनवाड़ी केंद्रों को बंद करने का आदेश दिया। गुरुवार को होने वाले कॉलेज के छात्रों के चुनाव को भी स्थगित कर दिया गया है।

चक्रवाती तूफान तितली गुरुवार को करीब साढ़े पांच पहुंचेगी

Cyclone Titli पहुंचने के दौरान समुद्र में करीब एक मीटर ऊंची लहरें उठने की आशंका है। मौसम विभाग अनुसार लोगों के लिए सुरक्षित स्थान को ढूंढने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

मौसम विभाग ने यह भी बताया कि गंजम, गजपति, जगतसिंहपुर, पुरी, केंद्रपाड़ा, कटक, जाजपुर, खुर्दा, नयागढ़, भद्रक और बालासोर जैसे जिलों में गुरुवार तक भारी बारिश होने की आशंका है।

एक आईएमडी वैज्ञानिक ने यह भी बतायाा कि बंगाल की खाड़ी में 20-30% उष्णकटिबंधीय चक्रवात पुनरावृत्ति कर रहे है और उत्तर से पश्चिम की तरफ जाने की बजाय, उन्होंने पूर्व की ओर मोड़ लिया है।

मछुआरों को सरकार की ओर से समुद्र में प्रवेश न करने के लिए एक चेतावनी जारी की गई है और नागरिकों को पर्याप्त भोजन, आवश्यक वस्तुओं और ईंधन की आपूर्ति को आरक्षित करने के लिए कहा गया है। >> Read in English

(News Delhi, Super Thirty India)

1 thought on “चक्रवाती तूफान तितली (Cyclone Titli) ने लिया विकराल रूप, ओडिशा के पांच तटीय जिलें इसके चपेट में

Leave a Reply

error: Content is protected !!