अब UPPSC की हर सीधी भर्ती के लिए Screening Tests जरूरी

UP Jobs News: Screening Tests

अब UPPSC की हर सीधी भर्ती के लिए Screening Tests जरूरी हो गई है हालंकि यह फैसला राज्य सरकार द्वारा संचालित मेडिकल कॉलेजों के प्राचार्यों और प्रोफेसरों की भर्ती पर लागू नहीं होगी।

(Now Screening Tests have become necessary for every direct recruitment of UPPSC, nevertheless this decision will not be applicable to the recruitment of principals and professors of medical colleges run by the state government of Uttar Pradesh.)

UPPSC ने उन पदों के लिए भी mandatory Screening Tests आयोजित करने का निर्णय लिया है, जो Uttar Pradesh में साक्षात्कार के आधार पर किया जा रहा है।

UPPSC के अधिकारियों का कहना है कि इस Step का उद्देश्य सबसे अच्छा उपलब्ध Candidate के योग्यता को सुनिश्चित करना है जिन नौकरियों के लिए उसको चुना जा रहा है।

UPPSC सचिव जगदीश ने निर्णय की पुष्टि किया और कहा कि यह हाल ही में अपने headquarters में आयोजित आयोग की बैठक में लिया गया था और कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि प्रत्येक आवेदक (Each applicant) को चयन प्रक्रिया के लिए अपनी योग्यता साबित करने का कम से कम एक मौका मिलेगा।

आयोग ने इससे पहले 50 या अधिक पदों के लिए Screening Tests आयोजित कर चुका है और जिसके लिए Candidates की कुल संख्या कुल रिक्त पदों की संख्या से 20 गुना अधिक थी। अन्य सीधी भर्तियों के लिए, आयोग का एक पैनल Candidates के शैक्षणिक प्रदर्शन (Academic performance) के आधार पर एक मेरिट सूची को अंतिम रूप देने के लिए इस्तेमाल किया जाता था और केवल इसके शीर्ष पर रहने वालों को interview के लिए बुलाया जाता था। जानकारी के लिए बता दूं कि यह Screening Tests अब खेल के मैदान को समतल करेगा।

Screening Tests विशेष रूप से उन Candidates की मदद करेगा जिन्होंने सरकार द्वारा संचालित संस्थानों (Operating institutions) से अपनी शिक्षा पूरी की है। ऐसा माना जाता है कि वे अधिक उदार निजी संस्थानों (liberal private institutions) की तुलना में कम अंक (low grades) प्राप्त करते हैं।

UPPSC द्वारा आयोजित Recruitment examinations में उपस्थित होने वाले युवाओं के विभिन्न समूहों ने भी इस मुद्दे को UPPSC के अधिकारियों के समक्ष दोहराया गया है।

जानकारी के अनुसार इस कदम का स्वागत अधिक्तर प्रतियोगी / भर्ती परीक्षा (Competitive / recruitment examination) के उम्मीदवारों ने किया है। बहुत से Candidates ने तो यह भी कहा कि इससे फैसले से UPPSC में भ्रष्टाचार पर भी अंकुश लगेगा। बहुत समय से आयोग द्वारा की जा रही सीधी भर्तियों में से कई में भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोप देखने को मिला है।

Screening Tests के फैसला UPPSC के नए अध्यक्ष प्रभात कुमार के एक और कदम के रूप में देखा जा रहा है ताकि सभी स्तरों के पदों के लिए आयोग द्वारा पारदर्शी Recruitment सुनिश्चित की जा सकें और विभिन्न भर्ती प्रक्रियाओं से निपटने के लिए विवादों और आरोपों को आमंत्रित करने के अपने पुराने ट्रेंड के मुक्त UPPSC को छुट्टी मिल सकें।

Uttar Pradesh Hindi News | Super 30 India

HTML Snippets Powered By : XYZScripts.com
error: Content is protected !!