Mon. Sep 21st, 2020

Super Thirty India: Eucation, Job, Business and Super 30 News

A big portal for Super 30 News and Education.

Vastu Dosha aur Uska Niwaran

दोष

दोष और उनका सुधार

 मकान के दोष मुख्य रूप से निम्नलिखित वजह से होते हैं जैसे

  • जब धार्मिक ग्रंथों में लिखे हुए सिद्धान्तों (नियमों) या निर्देशों का पालन नहीं किया जाता है।
  • मकान की महत्वपूर्व इकाइयों जैसे कि पूजा-पाठ करने वाला कमरा, रसोईघर, शौचालय, सोपान (जीना), सोने का कमरा तथा आराम करने का कमरा आदि, दरवाजे या गेट आदि की जगहों को, उनकी साज-सज्जा अथवा असज्जा को पारंपरिक रीति-रिवाज से नहीं बनाया जाने पर ऐसा होता है।
  • रुकावट या बाधाओं के नियमों का पालन ठीक तरह से न करने पर।
  • वैदिक वास्तुकला के रहस्यमय विचार को न मानना या उसकी उपेक्षा करना।
  • मकान के अंगभूत भागों जैसे कि मेहराब, खंभे, शहतीर, दीवार, सरदल, छत, नींव आदि में टूट-फूट होना आदि।

जब वास्तुकला संबंधी, धर्मग्रंथों के सिद्धान्तों से मिलते-जुलते या मकान के ढांचे से मिलते-जुलते दोष होते हैं, तो उनके फलस्वरूप उनमें रहने वालों को अलग-अलग तरह के गलत प्रभावों का जैसे कि रोग, बदकिस्मती, परिवार के सदस्यों की मृत्यु का होना, आपस में लड़ाई-झगड़े, बिना वजह मुकद्दमेबाजी, व्यापार, उद्योग अथवा राजनीति में नुकसान आदि का सामना करना पड़ता है। आखिरी में, जब इनकी असली वजह मालूम हो तो शीघ्रता से इनको दूर करने के लिए पूरे मनोयोग से कोशिश करनी चाहिए तथा सुधार अथवा मरम्मत का काम भी पूरा करना बहुत ही जरूरी हो जाता है।

इस तरह के दोषों को दूर करने के लिए वास्तुशिल्प हमको एक पूरी तरह से सिद्धान्तों के बारे में बताता है, जिसको हम आधुनिक शब्दावली में (द बिल्डिंग बाई लाज) मकान को बनाने के उपसिद्धान्त के नाम से जानते हैं। परंतु देखना यह होता है कि सत्ताधारी अपने दृष्टिकोण में बदलाव ला करके और पूरी तरह से योगदान देकर तथा शिक्षा के क्षेत्र में नियंता वास्तुशिल्प को पाठ्यक्रम का एक भाग बनाकर कहां तक अपना योगदान दे पाते हैं।

इसी तरह से मकान का दोष चाहे वह वास्तुकला, मकान के ढांचे अथवा धर्मग्रंथ से मिलते-जुलते हो बगैर ही ज्यादा परेशानी के विशेषज्ञों की सलाह-मशविरा लेकर और उनसे विचार-परामर्श करके काफी हद तक दूर किया जा सकता है, परंतु जब कोई कुआं खोदा जाता है अथवा बोरवेल के लिए छेद बनाया जाता है और इसके बारे में बाद में मालूम होता है कि वह जगह कुएं को खोदने के लिए सही नहीं थी तो उसके परिणाम स्वरूप मानसिक परेशानी और लड़ाई-झगड़े होने के लिए महसूस किया जाता है। इस तरह की अवस्था के होने पर कुएं अथवा बोरवेल को मिट्टी से भर करके सुधार करने का काम खत्म नहीं किया जा सकता।

क्योंकि जिस तरह से कि धर्मग्रंथों में बताया गया है कि यदि एक पेड़ या वृक्ष के कटने के पश्चात दक्षिण दिशा या पश्चिम दिशा की तरफ वह पेड़ गिरे तो उसके मकान को बनाने के काम के लिए इस्तेमाल करने के लिए अच्छा नहीं माना जाता है और उसको शांति अनुष्ठान तथा अन्य जरुरी अनुष्ठान करने के बाद ही छोड़ दिया जाता है। उसी तरह से काम न आने वाले कुएं अथवा बोरवेल को जरुरी धार्मिक अनुष्ठान करने तथा सही जगह पर अच्छे समय में दूसरा कुआं अथवा बोरवेल को खोदकर उसका इस्तेमाल करने के पश्चात ही मिट्टी से ढक या बंद कर देना चाहिए। इसकी वजह यह होती है कि कुआं अथवा बोरवेल पानी को प्राप्त करने के स्रोत माने जाते हैं, पानी या जल हमारे जिंदगी के लिए एक बहुत ही जरूरी वस्तु है और इन्हे भौतिक संसार के पांच महाभूतों में से एक माना जाता है।

कुछ उदाहरणों के बारे में जानकारी- कुछ उदाहरण दिए जा रहे है, जिनमें उनके दोषों और उनको दूर करने के उपायों को बताया जा रहा है। जहां पर इस तरह के दोष होते हैं जैसे कि उत्तर दिशा तथा पूर्व दिशा में खुली जगह का कम होना, सीढ़ियों (जीना) की जगह का सही तरह से न होना आदि और उन्हें सुधारा नहीं जा सके, तब उस विशेष पहलू को छूना न ही अच्छा होता है, परंतु इस तरह दोषों के गलत प्रभावों को दूर करने के लिए कुछ अन्य सुधार के उपायों को अपनाना जरूरी हो सकता है।

समानार्थीः-

  • North = उत्तर
  • South = दक्षिण
  • West = पश्चिम
  • East = पूर्व
  • Road = सड़क/मार्ग या रास्ता
  • Open = खुला

इस्तेमाल किए गए सांकेतिक अक्षरों के हिंदी समानार्थीः-

  • UT = Underground Tank  =  भूमिगत टंकी
  • GR = Garage           = गैराज
  • OH = Overhead Tank   = ऊपर स्थित टंकी
  • LL = Low Level         = निम्नस्तर अथवा नीती सतह
  • W = Well = कुआं
  • P = Pooja Room = पूजा का कमरा
  • G = Gate = द्वार अथवा गेट

There is less open place in east and north directions comparison to west and south direction. दोषः-

  • पूर्व दिशा और उत्तर दिशा में पश्चिम दिशा तथा दक्षिण दिशा की अपेक्षा से खुली जगह बहुत ही कम है।
  • जमीन में मुख्य द्वार या गेट दक्षिण दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ से हैं।
  • मकान में मुख्य गेट या द्वार पश्चिम दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ से है।
  • UT अर्थात भूमिगत टंकी गैराज के अंदर उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ से हैं।
  • OH यानी कि ऊपर की तरफ स्थित टंकी उत्तर दिशा की तरफ है।
  • गैराज उत्तर दिशा की कंपाउंड दीवार को स्पर्श (छू) रहा है और उत्तर पश्चिम कोने में रुकावट पैदा कर रहा है।
  • कुआं ठीक उत्तर पूर्व दिशा के कोने में है यानी कि जमीन के उत्तर-पूर्व दिशा के कोने को मकान के कोने से जोड़ने वाली काल्पनिक रेखा पर है।
  • मकान के दक्षिण-पश्चिम कोने में जमीन का स्तर काफी नीचा है।

उत्तर दिशा और पूर्व दिशा में खुली जगह कम है तो इसके बारे में कुछ भी नहीं किया जा सकता हैइसके लिए सही तरह के उपाय-

  • अगर उत्तर दिशा और पूर्व दिशा में खुली जगह कम है तो इसके बारे में कुछ भी नहीं किया जा सकता है।
  • दक्षिण-पश्चिम दिशा में लगे हुए गेट या दरवाजे से बड़ा दरवाजा दक्षिण दक्षिण-पूर्व में लगाया जाए तो अच्छा माना जाता है।
  • मकान का मुख्य दरवाजा या गेट दक्षिण दक्षिण-पूर्व दिशा के कोने में ही लगाना अच्छा माना जाता है।
  • उत्तर पश्चिम दिशा में बनी हुई भूमिगत टंकी को बंद करवा देना चाहिए और उस टंकी को उत्तर-पूर्व की दिशा में ही बनवाना अच्छा होता है।
  • ऊपर स्थित टंकी (ओवर हैंड़ टैंक) को दक्षिण-पश्चिम दिशा में लगवा लेना चाहिए।
  • गैराज को उत्तर-पश्चिम दिशा के कोने में खोलना अच्छा होता है।
  • दक्षिण-पश्चिम दिशा की निचली सतह में मिट्टी भरवा देना अच्छा माना जाता है।
  • जमीन की निचली स्तर की मंजिल (ग्राउंड फ्लोर) में उत्तर-पूर्व में बने हुए कमरे को पूजा-पाठ करने के कमरे में बदल लेना ही अच्छा होता है।

ग्रामीण मकान (फार्म हाउस)-

ग्रामीण मकान में इस्तेमाल किए जाने वाले अंग्रेजी शब्दों में समानार्थीः-

  • East = पूर्व
  • West = पश्चिम
  • North = उत्तर
  • South = दक्षिण
  • High Level = ऊंची सतह
  • Low Level = नीची सतह
  • Sloping = ढाल
  • House = मकान
  • Pooja = पूजा
  • Entry = प्रवेश
  • East-Road, Sloping Towards North = पूर्व सड़क, उत्तर दिशा की तरफ ढलान,
  • Proposed Fencing Compound = प्रस्तावित बाड़ा/हाता
  • Compound Existing = वर्तमान अहाता।

इस्तेमाल में आए सांकेतिक अक्षरों के हिंदी समानार्थीः-

  • Oh- Overhead Tank = ऊपर स्थित टंकी
  • L= Latrine = शौचालय
  • K= Kitchen = रसोईघर
  • W= Well               = कूप/कुआं
  • CS = गायों का सायबान

South and west directions have much open space comparison to north and east directionsदोषः-

  • दक्षिण दिशा और पश्चिम दिशा में उत्तर दिशा तथा पूर्व दिशा की अपेक्षा में खुली जगह ज्यादा है।
  • मकान का मुख्य गेट या दरवाजा दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ है।
  • मकान में रसोईघर उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ है।
  • गायों का सायबान उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ है।
  • पूजा-पाठ करने का कमरा दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ स्थित है।
  • ऊपर स्थित टंकी उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ है।
  • ब्यायलर युक्त नहाने का कमरा उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ स्थित है।

पश्चिम दिशा तथा दक्षिण दिशा की तरफ की खुली जगह को कम करने के लिए एक दीवार को बना देना चाहिएउपाय या सुझावः-

  • पश्चिम दिशा तथा दक्षिण दिशा की तरफ की खुली जगह को कम करने के लिए एक दीवार को बना देना चाहिए।
  • मकान के मुख्य गेट या दरवाजे को उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ लगाना चाहिए।
  • मकान में रसोईघर को दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ बनवाना चाहिए।
  • मकान मालिक को पूजा-पाठ करने वाले कमरे को दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ ही बनवाना चाहिए।
  • शौचालय, गायों के लिए आरामघर और नहाने के लिए कमरे को उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ ही रखना चाहिए।
  • ऊपर स्थित टंकी (औवर हैंड़ टैंक) दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ ही लगाई जाए तो अच्छा माना जाता है।

रेस्त्रां अथवा जलपान ग्रह- ’अ’ और ब दो अलग-अलग व्यक्तियों के स्वामित्व में है लेकिन दोनों ने मिलकर एक इकाई को बनाते हैं।

Restaurant– ‘A’ and ‘B’ are under control of two different people, but

रेस्त्रां अथवा जलपान ग्रह में इस्तेमाल किए गए अंग्रेजी शब्दों के समानार्थीः-

  • Conservancy Lane = सफाई गली
  • East = पूर्व
  • West = पश्चिम
  • South = दक्षिण
  • Kitchen = रसोईघर
  • Road = सड़क
  • Open = खुला।

इस्तेमाल किए गए सांकेतिक अक्षरों के हिंदी समानार्थीः-

  • A = अ
  • B = ब
  • E= Entrance = प्रवेश
  • BW= Bore well = बोरवेल
  • W= Well = कुआं
  • UT= Underground = भूमिगत टंकियां
  • G= Gate = द्वार या गेट
  • C= Counter = काउंटर
  • Exit= Extension = विस्तार
  • South East = दक्षिण-पूर्व
  • Open = खुला

उत्तर दिशा और पूर्व दिशा की तरफ रूकावट या बाधा है तथा पश्चिम दिशा का बायां भाग खुला हुआ हैअ के दोषः-

  • उत्तर दिशा और पूर्व दिशा की तरफ रूकावट या बाधा है तथा पश्चिम दिशा का बायां भाग खुला हुआ है।
  • दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ जमीन का फैलाव है।
  • उत्तर-पूर्व दिशा के कोने में रसोईघर है।

ब के दोषः-

  • कुआं, प्रवेश, बोरवैल, जमीन के अंदर टंकी, द्वार और खुली हुई जगह का फैलाव सभी दक्षिण-पश्चिम दिशा में है जो कि बहुत ही ज्यादा नुकसानदायक जाना जाता है।
  • फर्श का फैलाव पूर्व दिशा में ऊंचा है और पश्चिम दिशा में कम है।
  • काउंटर का मुंह दक्षिण दिशा की तरफ स्थित है।

दक्षिण-पूर्व दिशा के ’अ’ फैलाव को ’ब’ के फैलाव के द्वारा कम कर देना चाहिएअ के दोष को खत्म करने के लिए उपाय या सुझावः-

  • दक्षिण-पूर्व दिशा के ’अ’ फैलाव को ’ब’ के फैलाव के द्वारा कम कर देना चाहिए, इस तरह से करने से ’ब’ का उत्तर-पूर्व दिशा में फैलाव हो सकेगा।
  • दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ रसोईघर को बनवाना चाहिए।
  • उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ बोरवेल और जमीन के अंदर की टंकी को लगाया जाए तो इससे अच्छा लाभ मिलता है।

’ब’ के दोष खत्म करने के लिए उपाय या सुझावः-

  • बोरवेल, कुआं, जमीन के अंदर की टंकी (भूमिगत टंकी) को दक्षिण-पश्चिम दिशा में बंद कर देना चाहिए और उसको उत्तर-पूर्व में बढ़े हुए भाग में बनाना चाहिए।
  • रसोईघर को दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ बनवाना अच्छा तथा सही माना जाता है।
  • काउंटर के स्थान को बदल देना चाहिए तथा उसका मुंह उत्तर दिशा की तरफ करना अच्छा होता है।
  • मुख्य गेट या दरवाजे अगर दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ हो तो बंद कर देना चाहिए।
  • दक्षिण-पश्चिम दिशा के स्तर को ऊंचा उठाना चाहिए।
  • दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ के प्रवेशद्वार को पश्चिम-दक्षिण दिशा की तरफ लगवाना चाहिए जिसके परिणाम स्वरूप वास्तु दोष दूर हो जाता है।

औद्योगिक मकान-

(इंडस्ट्रियल बिल्डिंग)-

Industrial building-

इंडस्ट्रियल बिल्डिंग में इस्तेमाल किए गए अंग्रेजी शब्दों के समानार्थीः-

  • East = पूर्व,
  • West      = पश्चिम,
  • North      = उत्तर,
  • South      = दक्षिण,
  • Fencing      = बाड़ा,
  • Road      = रास्ता या सड़क,
  • Entry Porch = प्रवेश-द्वार या मंड़प

इस्तेमाल किए गए सांकेतिक अक्षरों के हिंदी समानार्थीः-  

  • = Septic Tank = सैप्टिक टैंक
  • S Pit = Soakage Pit = सोकेज पिट
  • WE = कारीगरों के प्रवेश करने के लिए गेट या दरवाजा।
  • SE = स्टोर रूम में प्रवेश करने का गेट या दरवाजा।
  • OH = Overhead Tank = ऊपर स्थित पानी को इक्ट्ठा करने की टंकियां।
  • ME = फैक्ट्री में मजदूरों के प्रवेश करने का गेट या दरवाजा।
  • BW = Bore well = बोरवेल
  • G = Gate = गेट या द्वार

Defect found while testingजांच करने पर पाए जाने वाले दोष-

  • अगर सैप्टिक टैंक (ST) और सोकेज पिट (S) दक्षिण-पूर्व दिशा के कोने में है तो इसे अच्छा नहीं माना जाता है।
  • फैक्ट्ररी के मुख्य गेट या दरवाजे का दक्षिण-पश्चिम कोने की तरफ होना नुकसानदायक माना जाता है।
  • मजदूरों या कारीगरों के प्रवेश करने का गेट या दरवाजा और स्टोर में जाने के लिए द्वार या गेट अगर उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ है तो इसे नुकसानदायक माना जाता है।
  • यदि पानी की टंकी (ओवर हैंड़ टंकी) दक्षिण-पूर्व के कोने में स्थित है तो यह भी हानिकारक मानी जाती है।
  • दक्षिण-पूर्व कोने की तरफ फैलाव किया गया है, तो यह नुकसानदायक माना जाता है।
  • मकान का मुख्य गेट या दरवाजा दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ है, तो उसकी दिशा को बदल देना चाहिए, क्योंकि इस तरह का मुख्य गेट या दरवाजा हानिकारक माना जाता है।
  • पूर्व दिशा और उत्तर दिशा की तरफ खुली जगह है जो कि दक्षिण दिशा और पश्चिम दिशा की खुली जगह से कम है।

दोष और उसमें सुधार करने के लिए कुछ उपाय या सुझावः-

  • Few advices for correctionसैप्टिक टैंक और सोकेज पिट के गलत प्रभावों को समाप्त करने के लिए दो गोल आकार और गहरी पानी को इकट्ठा करने की टंकियों को उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ बनवानी चाहिए। ये चीजें जमीन के अंदर ही बननी चाहिए।
  • फैक्टरी के अंदर जाने के लिए उसका मुख्य गेट या दरवाजा उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ लगवाना चाहिए तथा इस दरवाजे के सामने की तरफ द्वार-मंडप को भी बनवाना चाहिए।
  • फैक्टरियों के कारीगरों के अंदर जाने के लिए मुख्य गेट या दरवाजा और स्टोर रूम के मुख्य गेट या दरवाजे को उत्तर-पूर्व कोने में ही लगवाना अच्छा माना जाता है।
  • दक्षिण-पश्चिम कोने में ऊपर स्थित टंकी (ओवर हैंड़ टैंक) को लगाया जाए तो इसे सही समझा जाता है।
  • दक्षिण-पश्चिम दिशा में बढ़े हुए कोने को बाढ़ आदि लगाकर काट देना चाहिए।
  • दक्षिण दिशा और पश्चिम दिशा की तरफ से खुली हुई जगह को कम करने के लिए चित्र के अनुसार ही दूसरी ’बाड़’ को भी लगाना चाहिए।
  • फैक्टरी के मुख्य गेट या दरवाजे को उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ ही लगाया जाए तो इससे अच्छा लाभ मिलता है और वास्तु दोष दूर हो जाता है।

खाने पीने का प्रबंध और रहने के लिए-

(बोर्डिंग और लांजिग)-

दोनों ही एक व्यक्ति के मालिकाना हक के होने परः-

  • East = पूर्व
  • West = पश्चिम
  • North = उत्तर
  • South = दक्षिण
  • Private Property= निजी संपत्ति
  • Road = सड़क
  • Passage = पथ या रास्ता
  • Kitchen = रसोईघर
  • Restaurant = रेस्त्रां

इस्तेमाल किए हुए सांकेतिक अक्षरों के हिंदी समानार्थीः-

  • Hindi synonyms for the symbolic letters used in the given figureUT= Under Ground Tank = भूमिगत टंकी
  • TF= Transformer = ट्रांसफार्मर
  • BW= Bore well = बोरवेल
  • W= Well = कुआं
  • SB= Staircase Block = जीने का भाग
  • LE= Lodging Entrance = रहने की जगह का मुख्य दरवाजा या गेट
  • RE= Restaurant Entrance = रेस्त्रां के अंदर जाने के लिए मुख्य गेट या दरवाजा।
  • उत्तर दिशा की तरफ पानी की टंकी का होना लाभदायक माना जाता है।
  • बिजली के ट्रांसफार्मर अगर दक्षिण-पूर्व दिशा में हो, तो इसे अच्छा समझा जाता है।
  • अगर कुआं और बोरवेल दक्षिण-पश्चिम दिशा में हो, तो इसे बहुत ही ज्यादा लाभदायक माना जाता है।
  • उत्तर दिशा की तरफ जीने अथवा सीढ़ियों के भाग का होना अच्छा नहीं माना जाता है।
  • अगर रहने की जगह का मुख्य गेट या दरवाजा उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ से है, तो लाभदायक होता है।
  • रेस्त्रां का मुख्य गेट या दरवाजा दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ है, तो फिर यह तो बहुत ही ज्यादा नुकसानदायक माना जाता है।
  • उत्तर-पूर्व दिशा के भाग में ऊपर स्थित टैंक है तो अच्छा होता है।

दोष और उसमें  सुधार के लिए उपाय या सुझाव-

  • The owner of a restaurant will have to changed and it will have to make independent so that his अगर कुआं दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ से खुला हो, तो इसको बंद करवा देना ही अच्छा होता है और इससे वास्तु दोष दूर हो जाता है।
  • बोरवेल यदि दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ हो, तो इसे बंद करवा देने से ही लाभ मिलता है।
  • नए बोरवेल को उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ खुदवाना अच्छा माना जाता है।
  • जीने या सीढ़ियों को किसी भी हालत में नहीं बदलना चाहिए।
  • Stairs should never be changed in at any cost.
  • रेस्त्रां के मालिक को बदलना पड़ेगा और उसे स्वतंत्र बनाना होगा, जिससे कि उसका प्रवेश उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ से हो सके।
  • रसोईघर, विशेष रूप से खाना बनाने वाले हिस्से (भाग) को दक्षिण-पूर्व दिशा में बनवाना चाहिए।
  • ऊपर स्थित पानी की टंकी (ओवर हैंड टैंक) को पश्चिमी दिशा के भाग में लगवाना चाहिए।

व्यापार करने के लिए भवन-

(कमर्शियल बिल्डिंग)-

कमर्शियल बिल्डिंग में इस्तेमाल में लाए गए अंग्रेजी के शब्दों के समानार्थी-

  • North = उत्तर
  • Road = सड़क
  • East = पूर्व
  • West = पश्चिम
  • South = दक्षिण
  • Proposed Building = प्रस्तावित भवन
  • Fencing      = बाड़
  • Cut Off = कटा भाग

अंग्रेजी संकेत अक्षरों के हिंदी समानार्थीः-

  • UT= Under Ground Tank = भूमिगत टंकी
  • SB= = जीना या सीढ़ियों का भाग
  • BW= Bore well =  बोरवेल

A plot increased towards south-east direction is considered as very harmfulदोषः-

  • जमीन, दक्षिण दक्षिण-पूर्व की तरफ से बढ़ी हुई होना, बहुत ही ज्यादा हानिकारक माना जाता है।
  • बनाई गई योजना में भी भवन के दक्षिण दक्षिण-पूर्वी हिस्से का फैलाव ज्यादा किया गया है।
  • जीना या सीढ़ियां दक्षिण-पूर्व दिशा में है जो कि सही नहीं होता है।

दोष और उसमें सुधार करने के लिए उपाय या सुझावः-

  • Cutting the increased part of a plot towards south-east direction is considered as goodदक्षिण दक्षिण-पूर्व दिशा के बढ़े हुए हिस्से में बाड़ को लगाकर उसको काट देना अच्छा होता है और इससे वास्तु दोष दूर हो जाता है।
  • भवन को आयत के आकार का रूप देने के लिए उसकी योजना को बदल देना चाहिए।
  • दक्षिण दिशा और पूर्व दिशा की अपेक्षा में उत्तर दिशा तथा पूर्व दिशा में ज्यादा खुली जगह को छोड़ना चाहिए।
  • उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ बोरवेल को खुदवाना चाहिए।
  • जमीन के अंदर की टंकी को उत्तर-पूर्व की दिशा में बनवाना चाहिए।
  • जीने या सीढ़ियों के भाग को और ऊपर की तरफ स्थित टंकी को दक्षिण-पश्चिम दिशा के कोने की तरफ ही रखना चाहिए।

पेट्रोलबंक और सर्विस स्टेशन-

पेट्रोलबंक और सर्विस स्टेशन में इस्तेमाल किए गए अंग्रेजी शब्दों के समानार्थीः-

  • North = उत्तर,
  • South = दक्षिण,
  • East = पूर्व,
  • West = पश्चिम
  • Road = सड़क
  • Pump = पंप
  • Office = कार्यालय
  • Store = स्टोर
  • Slope = ढाल

इस्तेमाल किए गए सांकेतिक अक्षरों के हिंदी समानार्थीः-

  • AD= Advertisement = विज्ञापन बोर्ड़
  • UT= Underground Tank = भूमिगत टंकी (जमीन के अंदर टंकी)।
  • SS= Service Station = सर्विस स्टेशन
  • BW= Bore well = बोरवेल

North direction has less open space comparison to south directionदोषः-

  • उत्तर दिशा में दक्षिण दिशा की उपेक्षा खुली जगह कम है।
  • जमीन के अंदर पानी की टंकी दक्षिण दिशा में बनी हुई हों, जो हानिकारक मानी जाती है।
  • जमीन की ढलान दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ है।
  • विज्ञापन का बड़ा बोर्ड़ (AD) उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ है।

For lessening open space, the shed of service station can be made in south-west directionवास्तु दोष को समाप्त करने के लिए कुछ उपाय या सुझाव-

  • खुली जगह को कम करने के लिए दक्षिण-पश्चिम दिशा में सर्विस स्टेशन (SS) का सायबान बनवाया जा सकता है।
  • उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ जमीन के अंदर पानी की टंकी को बनवाना चाहिए।
  • उत्तर-पूर्व की दिशा में बोरवेल (BW) को खुदवाना अच्छा माना जाता है।
  • जमीन के भाग की ढलान उत्तर दिशा और उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ हो, तो इससे दोष को दूर करने में लाभदायक समझा जाता है।
  • पैट्रोल-पंप के विज्ञापन बोर्ड़ को पश्चिम दिशा की तरफ लगवाना अच्छा होता है।

वास्तुशास्त्र और धर्मशास्त्र (Vastu Shastra and Theology)

  1. भारतीय ज्योतिष शास्त्र
  2. भारतीय रीति-रिवाज तथा धर्मशास्त्र
  3. प्राचीन भारत की धर्मनिरपेक्ष वास्तुकला
  4. वेद तथा हिन्दू शब्द की स्तुति
  5. हिन्दू पंचांग अथार्त हिन्दू कैलेंडर क्या है?
  6. युग तथा वैदिक धर्म
  7. वास्तु तथा पंचतत्व
  8. अंक एवं यंत्र वास्तु शास्त्र
  9. जन्मपत्री से जानिये जनम कुन्डली का ज्ञान

👉 Suvichar in Hindi and English

प्लॉट, फ्लैट और घर खरीदें आसान किस्तों पर

दिल्ली, फरीदाबाद और नोएडा में यदि आप प्लॉट (जमीन) या फ्लैट लेना चाहते हैं तो नीचे दी गई बटन पर क्लिक कीजिये। आपको सही वास्तु शास्त्र के अनुकूल जमीन (प्लॉट) व फ्लैट मिलेगी। प्लोट देखने के लिए हमसे सम्पर्क करें, आने जाने के लिए सुविधा फ्री है। जब आपकों देखना हो उस समय हमारी गाड़ी आपको आपके स्थान से ले जायेगी और वहीं पर लाकर छोडे़गी। धन्यवाद! Buy Plots, Flats and Home on Easy Installments
HTML Snippets Powered By : XYZScripts.com
error: Content is protected !!